blogid : 12846 postid : 769494

48 सर्जरियों के बाद भी यह महिला लड़ रही है अपने हक की लड़ाई

Posted On: 24 May, 2015 social issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

एक इंसान की सबसे बड़ी हिम्मत क्या है? उसका पैसा, उसका चेहरा, उसका रुतबा, उसका रहन-सहन या फिर उसका नाम? नहीं, इंसान की सबसे बड़ी हिम्मत वो खुद है, उसका आत्मविश्वास है, उसके सपनों का जोश है और यदि इन सबको पाने के लिए उसका परिवार व उसके अपने उसके साथ हैं तो उसे ऊंचाइयों पर पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता.


monika singh picture


कुछ ऐसा ही जज़्बा व साहस लेकर अपनी जिंदगी से लड़ रही है मोनिका सिंह और धीरे-धीरे अपने सपनों की ओर बढ़ रही है. करीब नौ साल पहले मोनिका के साथ जो हुआ उसे सुन किसी की भी रूह कांप जाए. किसी से कही एक ‘ना’ का उसे इसका इतना बड़ा हर्जाना भरना पड़ा जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता.


उसका वो दर्द आपे से बाहर था


उस दिन मोनिका ने सोचा भी ना होगा कि उसके साथ क्या होने वाला है, यदि कुछ अंदाजा होता तो शायद वो उस दिन घर से बाहर ना निकलती. यह एक दशक पहले की बात है जब मोनिका अपने फैशन डिजाइनिंग कोर्स के पहले साल में थी. उस समय लखनऊ के एक लड़के ने मोनिका के चेहरे पर तेज़ाब डाल दिया. इस हैवानियत का सिर्फ इतना सा कारण था कि मोनिका ने उसके लिए आए एक शादी के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. मोनिका का चेहरा व गर्दन का हिस्सा इस कदर जल गया था कि उसे पहचानना मुश्किल हो गया था.


monika singh pic


हादसे के नौ साल के अंदर मोनिका ने करीब 48 सर्जरियां करवाई जिसके बाद उसके चहरे का आकार कुछ बेहतर हुआ है. उसका चेहरा अभी भी पहले जैसा नहीं रहा लेकिन इस नए चेहरे को पा कर मोनिका का आत्मविश्वास लौट आया है.


Read More: क्या आपको यह चेहरा डरावना लगता है…अपने ही चेहरे से डरने वाली एक बच्चे की मार्मिक कहानी


अब उसका एक ही सपना है


इतने बड़े हादसे से निकल पाना बेहद हिम्मत की बात है और ऐसा करने से मोनिका उन सभी लड़कियों के लिए मिसाल बनी है जिन पर इस तरह के या फिर बलात्कार व शारीरिक शोषण जैसे हादसे होते हैं. मोनिका आज हर एक लड़की को इतना टूट जाने के बावजूद भी केवल खुद के लिए कुछ कर दिखाने का संदेश दे रही है.


monika singh new look



कड़ी मेहनत के बाद मोनिका को न्यूयॉर्क के एक जाने माने फैशन डिजाइनिंग स्कूल में दाखिला मिला है लेकिन वहां पढ़ने का सपना कुछ टूटता हुआ दिख रहा है. अमेरीका में पढ़ाई के लिए उसे बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत है और उसके घर में अब केवल उसका एक भाई कमाता है.


मोनिका की आजतक की सभी सर्जरियों पर करीब 50 लाख रुपया लगा है जिसका सारा खर्चा उसके पिता जो कि पेशे से बैंकर थे उन्होंने किया. बदकिस्मती से उनका कुछ समय पहले देहांत हो गया और अब मोनिका की हिम्मत का स्रोत केवल उसका भाई है.


सभी कर रहे हैं कोशिश


मोनिका के दोस्त व उसके सभी शुभचिंतक उसकी हर तरीके से मदद कर रहे हैं. ना सिर्फ अपने लिए बल्कि मोनिका उन सभी लड़कियों के लिए जो इस दर्द से गुज़र रही हैं, उन सब के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. कुछ एनजीओ व संस्थाओं की मदद से मोनिका अपने सपने को साकार करने की कोशिश में लगी है.

monika singh



पिछले कुछ समय में सरकार द्वारा ‘एसिड अटैक’ को लेकर सख्ती बर्ती जा रही है जिसके तहत कुछ नए नियम व कानून बनाए गए हैं पर दुख की बात यह है कि मोनिका इन कानूनों का इसतेमाल नहीं कर सकती क्योंकि यह उसके साथ हुए हादसे के कई सालों बाद बनाए गए हैं.


हाल ही में यह खबर भी आई है कि मुम्बई की एक संस्था द्वारा ‘एसिड अटैक’ से पीड़ित लड़कियों के लिए एक खास तरह की ‘इंश्योरेंस’ पॉलिसी शुरु की जाएगी बस इंतजार है सरकार व अधिकारियों से मिलने वाली अनुमति का. यदि जल्द ही हमारे देश का कानून ऐसी घ्टनाओं को लेकर सख्त हो जाए और इसका समाधान भी निकाला जाए तो वो दिन दूर नहीं जब हर एक औरत व हर एक लड़की गर्व से अपने देश का नाम लेगी.


आप वीडियो के जरिये भी मोनिका के संघर्ष की कहानी को देख सकते हैं:


YouTube Preview Image


Read more: परियों की कहानी सुनने की उम्र में वो मासूम अपने जीवन की सबसे बड़ी लड़ाई लड़ते हुए दुनिया को अलविदा कह गई, जानिए मासूम लॉरिन की मार्मिक कहानी

जीना तो इनके लिए एक अभिशाप है ही, मरना भी सुकून से बहुत दूर है…किन्नरों की एक अजीब रस्म जो इंसानी रस्मों से बहुत दूर है

वीडियो में देखें कुदरत का सबसे बड़ा धोखा, कैसे मिली जिंदगी की सबसे बड़ी और दर्दनाक सजा

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 4.33 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran